7 Aug 2017

बिछड़ के तुमसे जिन्दगी सजा लगती है......

बिछड़ के तुमसे जिन्दगी ...


बिछड़ के तुमसे जिन्दगी सजा लगती है,
ये सांस भी जैसे मुझसे ख़फ़ा लगती है !
अगर उम्मीद-ए-वफ़ा करूँ तो किससे करूँ.
मुझको तो मेरी ज़िंदगी भी बेवफा लगती है !!

 

 

 

 

 
Bichhad ke tumse zindagi sazaa lagti hai,

Ye saans bhi jaise mujhse khafaa lagti hai.

Agar ummid-e-wafa karun to kisse karun,

Mujhko to meri zindagi bhi bewafa lagti hai.

_______________________________________

Read best hindi sayeri in one click-





Click and read

No comments:

Post a Comment