31 Jul 2017

Log mujhe badnaam karte hain....

Log mujhe badnam.


Hum pyaar karte hai log katl-e-aam karte hai ,
Hum chhupaa kar karte hain sab khule-e-aam karte hai.
Sab khun pite hain to unhein koyi kuchh nahi kahta,
Thodi sharaab kya pi sab mujhe badnam karte hai.










हम प्यार करते है लोग कत्लेआम करते हैं,

हम छुपा कर करते हैं लोग खुलेआम करते हैं !!

लोग खुन पीते हैं तो उन्हे कोई कुछ नही कहता,

थोड़ी शराब क्या पी लोग मुझे बदनाम करते हैं !!!




Read beautifull sayeri in one click




Jo bhool gaya use yaad mat karo

No comments:

Post a Comment