10 Jul 2017

मुस्कुरा दो जरा खुदा के वास्ते....


मुस्कुरा दो जरा खुदा के वास्ते


मुस्कुरा दो जरा खुदा के वास्ते,
शमा-ए-महफील मे रौशनी कम है.
तुम हमारे नहीं तो क्या गम है,
हम तुम्हारे तो हैं ये क्या कम है.











Mushkura do zara khuda ke waaste,
Shama-e-mahfil me roshani kam hai.
Tum hamaare nahi to kya gam hai,
Ham tumhaare to hai ye kya kam hai.

________________________________________



So beautifull sayeri in hindi font





Meri mout par mehandi racha lena

No comments:

Post a Comment